Breaking News
देश को टेक्सटाइल यूनिट में पहला ग्रीन फैक्टरी बिल्डिंग देने वाले युवा उधोगपति अक्षय को मिला पुरस्कार साइकिल पर सवार होकर आला अधिकारियों ने दिया क्लीन ग्रीन व सेफ दिल्ली का संदेश साइकिल की सवारी कर आला अधिकारी दंगे फिट रहने का संदेश शहरवासियों को थिएटर के करीब लाएगा संभार्य फाउंडेशन 12 से 17 जून तक थिएटर महोत्सव रंग लाई पेफी की मुहिम...छात्रों को ऑल सब्जेक्ट के नहीं हेल्थ और फिजिकल एजुकेशन के टीचर ही पढ़ाएंगे फैक्ट्री और आवास के आसपास के क्षेत्रों को उद्योगपति एस एस बांगा ने सुंदर उपवन में कर दिया तब्दील, सेक्टर 58 में 10 हजार पौधे लगाने की तैयारी विश्व तंबाकू निषेध दिवस पर जागरुकता अभियान मानव रचना के छात्रों ने मार्च निकलकर किया लोगों को जागरूक श्रीराम कथा का छठा दिन: जो आदमी सबको ब्रह्म नहीं समझता, वह स्वयं सबसो बड़े भ्रम में है- बापू युवा कांग्रेस में केशव यादव के अध्यक्ष व श्रीनिवास वेंकटेश के उपाध्यक्ष बनने युवाओं में हुआ है नई ऊर्जा का संचार - तरुण तेवतिया

उद्योगपति एस.एस.बांगा के पहले संपादित पुस्तक ‘तिहाड़ से हरिद्वार’ का हुआ विमोचन

उद्योगपति एस एस बांगा के पुस्तक का विमोचन करते अतिथि

फरीदाबाद।
शहर के प्रख्यात उद्योगपति और सार्क चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्रीज जनरल असेंबली मेंबर के सदस्य एस एस बांगा द्वारा संपादित पुस्तक ‘तिहाड़ से हरिद्वार’ तक विमोचन दिल्ली के कॉन्सिट्यूशनल क्लब में किया गया। यह पुस्तक तिहाड़ जेल के 18 कैदियों के 14 दिवसीय आध्यात्मिक चारित्रिक विकास बंदी सुधार पर ध्यान केंद्रित कर लिखी गई है। इसका लोकपर्ण राज्यसभा सांसद सरदार त्रिलोचन ङ्क्षसह, प्रभात झा, महामंडलेश्वर मार्तण्डपुरी, योगऋषि स्वामी आशुतोष महाराज, दीपक झा ने सहित बड़ी संख्या में सामाजिक, आध्यात्मिक, आर्थिक और राजनीतिक जगत के दिग्गजों के बीच किया गया है।
उद्योगपति एस एस बांगा ने बताया कि यह पुस्तक नहीं एक यात्रा है। एक यात्रा अंधकार से प्रकाश, असत्य से सत्य की ओर ले जाने की। जब पहली बार यह पुस्तक पर चर्चा हो रही थी। मुझे लगा कि उद्योगजगत के क्षेत्र में सक्रिय मेरे जैसे शख्स के लिए यह कैसे संभव हो सकता है। मेरा मानना है कि हर शख्स में आध्यात्म, सुधार आदि का कौतूहल रहता है। इस कौतूहल ने ही मुझे पुस्तक के संपादन को प्रेरित किया। यह पुस्तक भारतयी जेल, कैदी आदि के बारे में कई अनजानी तथ्य बताती है। इस पुस्तक में जब 18 कैदी एक आध्यात्मिक, चारित्रिक सुधार यात्रा पर निकलते हैं तो उन 14 दिनों में क्या हुआ। वह संपूर्ण घटनाक्रम को इस पुस्तक में दिया गया है। साथ ही देश-विदेश की कुछ जेलों के बारे में जानकारी भी दी गई है। उद्योगपति बांगा की एक अन्य पुस्तक बैटल ऑफ बनारस इस वर्ष आने वाली है। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी के बनारस राजनीति यात्रा की विस्तृत जानकारी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *