Breaking News
7 सितंबर से शुरू होगा हरियाणा विधानसभा का मानसून सत्र, अटल बिहारी को श्रद्धांजलि अटल जी के कार्यकाल मे वो योजनाए जिसने देश की तस्वीर बदल दी थी अटल बिहारी वाजपेयी ने दिल्ली मेट्रो के पहले रेल लाइन का उद्धाटन किया था अटल बिहारी वाजपेयी ,जानिए उन्हें और क्या-क्या हैं पसंद अटल बिहारी वाजपेयी का राजनैतिक जीवन मे शुरुआत कैसे हुई? जाने सावित्री पॉलिटेक्निक फॉर वूमैन में हरियाली तीज व 72वां स्वतंत्रता दिवस धूम धाम से मनाया शहीदो की शहादत को देश कभी नहीं भुला पायेगा: सोहनपाल सिंह| प्रोत्साहन चैरिटेबल ट्रस्ट ने धूमधाम से मनाया हरियाली तीज का त्योहार| सीही गांव को किया जा रहा है आदर्श गांव की तरह विकसित- विपुल गोयल जीत कुने डो मार्शल आर्ट्स चैंपियनशिप में फरीदाबाद की योगीराज कृष्ण एकेडमी रही विजेता।

‘व्यवहार परिवर्तन संचार’ विषय पर विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन

01 (1)
फरीदाबाद, 18 अप्रैल 2018,
वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा पत्रकारिता एवं जनसंचार के विद्यार्थियों के लिए ‘व्यवहार परिवर्तन संचार’ विषय पर एक विशेषज्ञ व्याख्यान का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बिरला इंस्टीट्यूट आफ टैक्नोलॉजी, मेसरा, रांची में एसोसिएट प्रोफेसर डॉ सुपर्ना दत्ता मुख्य वक्ता रही तथा विद्यार्थियों को ‘व्यवहार परिवर्तन संचार’ से संबंधित तकनीकी एवं व्यवहारिक जानकारी प्रदान की।
कार्यक्रम का संचालन पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में सहायक प्रोफेसर अमनदीप कौर ने किया। इस अवसर पर आईटी व कम्प्यूटर एप्लीकेशन्स विभाग के अध्यक्ष प्रो. अतुल मिश्रा, कम्प्यूटर इंजीनियरिंग विभाग के अध्यक्ष प्रो. कोमल कुमार भाटिया तथा प्रो. मंजीत सिंह भी उपस्थित थे।
अपने विशेषज्ञ व्याख्यान में डॉ. दत्ता ने विद्यार्थियों को साकारात्मक व्यवहार को प्रोत्साहित करने में व्यवहार परिवर्तन संचार की भूमिका तथा रणनीति के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि व्यवहार परिवर्तन संचार एक लक्षित समूह के व्यवहार में वांछित परिवर्तन को समझने तथा व्यवहार में बदलाव लाने का एक माध्यम है और यह शिक्षा एवं संचार दोनों के बीच कड़ी का कार्य करता है।
उन्होंने बताया कि व्यवहार परिवर्तन संचार कार्यक्रमों द्वारा प्राप्त ज्ञान एवं कौशल से विद्यार्थी स्वास्थ्य, पोषण, शिक्षा तथा अन्य क्षेत्रों से जुड़े सरकार के प्रमुख कार्यक्रमों से सीधे जुड़ सकते है, बल्कि यह विद्यार्थियों, शिक्षकों, कॉर्पोरेट क्षेत्र में सामाजिक सरोकार के कार्यों करने वालों को देखने वाले, नागरिक सेवाओं से सीधे तौर पर जुड़े अधिकारियों एवं इन सेवाओं के इच्छुक अभियार्थियों के लिए भी लाभदायक है, जिससे वे समाज में बदलाव लाने में अहम भूमिका निभा सकते है।
कार्यक्रम के दौरान बिरला इंस्टीट्यूट आफ टैक्नोलॉजी के नोएडा स्थिति विस्तार केन्द्र के विद्यार्थियों ने व्यवहार परिवर्तन संचार से संबंधित अपने कार्याें तथा अनुभवों को भी साझा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *