Breaking News
रंग लाया केंद्रीय राज्य मंत्री श्री चौबे का प्रयास चौसा पावर प्लांट की मिली कैबिनेट की मंजूरी, प्रधानमंत्री व ऊर्जा मंत्री का जताया आभार, लंबे समय से कर रहे थे अथक प्रयास महाशिवरात्रि पर बन रहा उत्तम संयोग, होगा महाकल्याणकारी परम प्रेममय श्री श्री ठाकुर अनुकूलचंद्र जी का 131वां पावन जन्म महोत्सव का भव्य समारोह का आयोजन शेल्टर होम से गायब हुईं 7 लड़कियां, तेजस्वी ने कहा- SC की मॉनिटरिंग के बावजूद ये दु:साहस कौन कर रहा है?.... श्री श्री ठाकुर अनुकूल चंद्र जी की 131वां पावन जन्म महोत्सव पर भव्य समारोह का आयोजन पुलवामा आतंकी हमला : फरीदाबाद में आक्रोशित लोगों ने निकाली रैली, शहीदों को दी श्रद्धांजलि केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे तारेगना-मसौढ़ी के शहीद के परिवार से मिलने के बाद अमर शहीद रतन के परिवार से मिलने कहलगांव-भागलपुर हुए रवाना पुलवामा में शहीद हुए मसौढ़ी के संजय सिन्हा के परिवार से मिले केंद्रीय राज्य मंत्री श्री अश्विनी चौबे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आधी रात को निकल पड़े, पटना के दो थानेदारों पर गिर गई गाज हरियाणा-महाराष्ट्र में माटी और खून का रिश्ता : देवेंद्र फडऩवीस

जय जवान जय किसान जय विज्ञान की मजबूती से ही भारत होगा मजबूत: केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे

बक्सर 29 अक्टूबर 2018

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी चौबे ने कहा कि विज्ञान से ही हम सुनहरे भविष्य का द्वार खोल सकते हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का ध्येय है कि स्कूली बच्चे विज्ञान की पढ़ाई में दिलचस्पी ले और वैज्ञानिक बने। इसी उद्देश्य के लिए बड़े पैमाने पर बिहार वैज्ञानिक साक्षरता उत्सव विज्ञान मेले का आयोजन किया गया है। ताकि बड़ी संख्या में छात्र इसका लाभ उठा सकें । भारत की मजबूती जय जवान जय किसान और जय विज्ञान पर टिकी हुई है। इस तरह के प्रदर्शनी का अधिक संख्या में लाभ उठाना चाहिए।

वे अहिरौली स्थित सरस्वती विद्या मंदिर में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित बिहार वैज्ञानिक साक्षरता उत्सव विज्ञान मेला के उद्घाटन के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। केंद्रीय मंत्री श्री चौबे के विशेष प्रयास से पहली बार इस तरह के विज्ञान प्रदर्शनी का आयोजन बक्सर में किया जा रहा है। ताकि बड़ी संख्या में छात्र , युवा एवं किसान इसका लाभ उठा सकें। प्रदर्शनी 31 अक्टूबर तक चलेगी। केंद्रीय मंत्री श्री चौबे ने कहा कि बच्चों में विज्ञान के प्रति जिज्ञासा उत्पन्न करने की आवश्यकता है। इस तरह की प्रदर्शनी जिज्ञासा उत्पन्न करने में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन करती है। इसका लाभ अधिक संख्या में छात्र उठाएं। इसके लिए सभी को प्रयास करना चाहिए। भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विज्ञान के क्षेत्र में भारत ने अभूतपूर्व सफलता हासिल की है। अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत की सफलता 4 सालों में महत्वपूर्ण रही है। हर उम्र वर्ग के लिए यह प्रदर्शनी ज्ञान का स्रोत है। साथ ही करियर बनाने की जानकारी ले सकते हैं। किसान भाई भी इस प्रदर्शनी का लाभ उठा सकते हैं। इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री श्री चौबे ने स्कूल में विज्ञान भवन के लिए 15 लाख रुपए देने की घोषणा भी की। इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष राणा प्रताप सिंह, महामंत्री मदन दुबे ,वरिष्ठ भाजपा नेता सत्येंद्र कुमार सहित बड़ी संख्या में पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद थे।

विशेष आग्रह पर प्रदर्शनी का हो रहा है आयोजन

केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण राज्यमंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे के विशेष आग्रह पर विज्ञान व प्रौद्योगिक मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा पहली बार जिले में भव्य बिहार वैज्ञानिक साक्षरता उत्सव सह प्रदर्शनी(विज्ञान मेला) का समापन 31 अक्टूबर को होगा। त्रिदिवसीय इस प्रदर्शनी में भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी से सम्बंधित विभिन्न संस्थाओं और इसके विभागों के द्वारा अनेक विषयों पर कार्यशालाओं और व्याख्यानों का आयोजन भी होगा । जिससे स्थानीय लोग लाभान्वित होंगें।
प्रदर्शनी के नोडल अधिकारी डॉ. एस के पांडेय इस बारे में बताते हैं कि प्रदर्शनी का आयोजन कस्बे और छोटे शहरों में किया जा रहा है। ताकि यहां के लोग इसका लाभ उठा सकें। प्रदर्शनी में कृषि से संबंधित कई नवीनतम खोज आदि की भी जानकारी दी जाएगी।

किनके लिए है प्रदर्शनी विशेष उपयोगी?

  • प्रदर्शनी ऐसे किसानों के लिए, जो कृषि विज्ञान और प्रौद्योगिकी में नवीनतम विकास और इंडियन काउंसिल ऑफ एग्रीकल्चरत रिसर्च द्वारा फसल विविधीकरण का उपयोग करके अपनी आय को बढ़ाना चाहते हैं।
  • उद्यमी, नौकरी चाहने वाले जो नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन, केवीआईसी, सीबी द्वारा क्षमता, कौशल विकास और लाभ बढ़ाना चाहते हैं।
  • ऐसे बेरोजगार जो भारत सरकार के उन्नत कौशल वाले आर एंड डी विभागों एस एंड टी, सशस्त बलों आदि में रोजगार प्राप्त करना चाहते हैं।
  • छात्र, जो अनुसंधान प्रयोगशालाओं, विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत सरकार के वैज्ञानिक विभागों में करियर बनाना और नौकरियां करना चाहते हैं।
  • आम जनता जो वैकल्पिक चिकित्सा और भारतीय चिकित्सा पद्धति योग,मुद्रा, ध्यान पद्धति में विश्वास करती है। साथ ही आयुर्वेद, होम्योपैथी और यूनानी चिकित्सकों से निशुल्क सामान्य स्वास्थ्य जांच भी करा सकते हैं।

चाणक्य लाइव न्यूज़,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *