Breaking News
रंग लाया केंद्रीय राज्य मंत्री श्री चौबे का प्रयास चौसा पावर प्लांट की मिली कैबिनेट की मंजूरी, प्रधानमंत्री व ऊर्जा मंत्री का जताया आभार, लंबे समय से कर रहे थे अथक प्रयास महाशिवरात्रि पर बन रहा उत्तम संयोग, होगा महाकल्याणकारी परम प्रेममय श्री श्री ठाकुर अनुकूलचंद्र जी का 131वां पावन जन्म महोत्सव का भव्य समारोह का आयोजन शेल्टर होम से गायब हुईं 7 लड़कियां, तेजस्वी ने कहा- SC की मॉनिटरिंग के बावजूद ये दु:साहस कौन कर रहा है?.... श्री श्री ठाकुर अनुकूल चंद्र जी की 131वां पावन जन्म महोत्सव पर भव्य समारोह का आयोजन पुलवामा आतंकी हमला : फरीदाबाद में आक्रोशित लोगों ने निकाली रैली, शहीदों को दी श्रद्धांजलि केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे तारेगना-मसौढ़ी के शहीद के परिवार से मिलने के बाद अमर शहीद रतन के परिवार से मिलने कहलगांव-भागलपुर हुए रवाना पुलवामा में शहीद हुए मसौढ़ी के संजय सिन्हा के परिवार से मिले केंद्रीय राज्य मंत्री श्री अश्विनी चौबे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आधी रात को निकल पड़े, पटना के दो थानेदारों पर गिर गई गाज हरियाणा-महाराष्ट्र में माटी और खून का रिश्ता : देवेंद्र फडऩवीस

“रन फ़ॉर यूनिटी” में पटना में शामिल हो दौड़े केन्द्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे

पटना, 31 अक्टूबर 2018

भारत के पहले उपप्रधानमंत्री लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल के 143वे जयंती पर बिहार भाजपा द्वारा आयोजित “रन फ़ॉर यूनिटी” कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे शामिल हुए। बिहार विधानमंडल के मुख्य द्वार के सामने स्थित सप्तमुर्ति (शहीद स्मारक) से हवाई अड्डा रोड स्थित सरदार पटेल के प्रतिमा स्थल तक हुई इस कार्यक्रम में झंडा दिखाकर इसकी शुरुआत करने से लेकर प्रतिमा पर माल्यार्पण से लेकर प्रतियोगियों के पुरस्कार वितरण तक सभी चरणों मे प्रदेश भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ पूरे जोश-खरोश से शामिल हुए।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने इस अवसर पर कहा आजादी के बाद 562 रियासतों को सरदार ने भारत में मिलाया।उन्हें एक सूत्र में पिरो कर अकल्पनीय काम किया था। उनके अटल इरादों और फौलादी इच्छाशक्ति के कारण उन्हें लौहपुरुष कहा जाता है।
कुशाग्र बुद्धि विद्यार्थी, ख्याति प्राप्त बैरिस्टर, किसान नेता, स्वतंत्र सेनानी और आधुनिक भारत के भौगोलिक भूभाग के निर्माता के रूप में सरदार पटेल सभी तरीके से समाज के सभी वर्गों के लिए आदर्श पुरुष हैं। आधुनिक भारतीय इतिहास में इनकी तुलना नहीं की जा सकती। कांग्रेस पार्टी ने आजादी के बाद एक परिवार के महिमामंडन के लिए सरदार को भुलाने का काम किया क्योंकि अगर सरदार को याद किया जाता यह परिवार राजनीतिक रूप से फलीभूत नहीं हो पाता। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने सरदार को अपना पुरखा और देश का सच्चा सबूत माना। हम उनके बताए रास्ते पर चलते रहेंगे इसलिए उनकी स्मृति को याद रखने के लिए हमारी सरकार ने उनकी 183 मीटर ऊंची दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति बनाने का फैसला किया। इतना महान काम करने वाले सरदार बल्लभ भाई पटेल को हम सब नमन करते हैं।

बिहार भाजपा द्वारा आयोजित रन फ़ॉर यूनिटी कार्यक्रम की शुरूआत सप्तमुर्ति शहीद स्मारक से शुरू हुई जहाँ प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी कुमार चौबे, पथनिर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव,स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश कुमार, प्रदेश मंत्री अमृता भूषण, विधान पार्षद सूरज नंदन कुशवाहा-नवलकिशोर यादव,विधायकगण नितिन नवीन,संजीव चौरसिया,आशा देवी,प्रदेश उपाध्यक्ष नीतीश मिश्रा, युवा भाजपा नेता अर्जित शाश्वत चौबे, अभिजीत कश्यप मनीष तिवारी सहित सैकड़ों पदाधिकारियो और आधा दर्जन स्कूलों के हजारों बच्चे उपस्थित थे।

प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय के झंडा दिखाने के बाद रन फॉर यूनिटी के शुरुआत हुई। सभी प्रतिभागी बच्चे सहित भाजपा नेता और कार्यकर्ताओं ने श्री राय और श्री चौबे के नेतृत्व में गंतव्य स्थान हवाई अड्डा रोड में स्थित सरदार पटेल के मूर्ति स्थल के लिए कुछ किया। मूर्ति स्थल पर पहुंचने के बाद केंद्रीय मंत्री श्री चौबे ने प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय और प्रदेश उपाध्यक्ष देवेश कुमार के साथ सरदार पटेल के प्रतिमा पर माल्यार्पण किया और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। इसके उपरांत बगल में स्थित पुरस्कार वितरण स्थल पर श्री अश्विनी चौबे और नित्यानंद राय सहित प्रदेश पदाधिकारियों और विधायकों ने प्रतियोगी छात्रों और शिक्षकों को प्रमाण पत्र वितरित किए।

इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में केंद्रीय मंत्री श्री चौबे ने कहा कि सरदार पटेल आधुनिक भारत के भौगोलिक संरचना के जनक थे।आज का हिंदुस्तान सरदार पटेल की देन है। सरदार नहीं रहते तो हिंदुस्तान का भूभाग बहुत छोटा होता। हम सभी सरदार के ऋणी है। भारत माता के ऐसे सपूत को शत-शत नमन करते हैं। अगर ये भारत के पहले प्रधानमंत्री रहते तो भारत के राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक तस्वीर बहुत बेहतर होती। भारत मां के इस सपूत को कांग्रेस पार्टी ने विस्मृत कर दिया था। भारतीय जनता पार्टी उन्हें अपना आदर्श और भारत मां का सच्चा सपूत मानती है, इसलिए हमने उनको अंगीकार किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों की भावना को समझते हुए दुनिया की सबसे ऊंची (182 मीटर)प्रतिमा सरदार का बनाने का फैसला किया। उन्होंने आज उसका निर्माण पूरा करवाकर अमल भी किया।आज कुछ लोग सरदार पटेल की प्रतिमा बनाने पर सवाल खड़े कर रहे हैं। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि जो अपने महापुरुष को विस्मृत कर देता है उसका नाश हो जाता है। कांग्रेस पार्टी ने सरदार पटेल को विस्मृत कर अपने नाश की कहानी स्वयं लिख ली है। भारतीय जनता इस सारी चीजों को समझती है। इसलिए देश की एकता-अखंडता के लिए अपना सर्वस्व देने वाले सरदार पटेल के सर्वाधिक ऊंची प्रतिमा निर्माण पर भारत के लोगों में जोश और उत्साह का माहौल है। यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश सिर्फ चौमुखी विकास कर रहा है बल्कि राष्ट्र की एकता अखंडता को अक्षुण्ण रखने वाले महापुरुषों को याद भी कर रहा है। यह बात तुच्छ राजनीति करने वालों को बर्दाश्त नहीं हो रही है। लेकिन हम देश जनता और महापुरुषों के सम्मान में यह कुछ विरोधियों की बातों की परवाह किए बिना आगे बढ़ते जाएंगे।

चाणक्य लाइव न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *