Breaking News
पुलवामा आतंकी हमला : फरीदाबाद में आक्रोशित लोगों ने निकाली रैली, शहीदों को दी श्रद्धांजलि केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे तारेगना-मसौढ़ी के शहीद के परिवार से मिलने के बाद अमर शहीद रतन के परिवार से मिलने कहलगांव-भागलपुर हुए रवाना पुलवामा में शहीद हुए मसौढ़ी के संजय सिन्हा के परिवार से मिले केंद्रीय राज्य मंत्री श्री अश्विनी चौबे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आधी रात को निकल पड़े, पटना के दो थानेदारों पर गिर गई गाज हरियाणा-महाराष्ट्र में माटी और खून का रिश्ता : देवेंद्र फडऩवीस पिता नहीं चाहते थे कि बेटा पढ़ाई करे, महज 21 की उम्र में IAS बन कर रच दिया कीर्तिमान ब्रांड बिहार : कभी बस की छत पर मोतिहारी जाते थे राकेश पांडेय, अब दुनिया को कैंसर से बचा रहे हैं 23 मार्च से भारत में ही होगा आईपीएल प्रधानमंत्री जी जो कहते हैं वह करते हैं: अश्विनी चौबे सरकार की प्राथमिकता सबका साथ सबका विकास कैट का रिजल्ट जारी, टॉप में बिहार से एक छात्र

ये उपाए करेंगे प्रदूषण के कहर को बेअसर

एक स्वस्थ और संतुलित वातावरण आपको सेहतमंद रखने के लिए जिम्मेदार होता है |वायुमंडल में कई तरह की गैस पाई जाती है , जिसमें मौलिक, जैविक और रासायनिक गुण पाएं जाते है, जो जैवमंडल को प्रदूषित करते है| जैवमंडल में पाए जाने वाले प्रदूषण जैसे-वायु प्रदूषण, जल प्रदूषण, ध्वनि प्रदूषण, मृदा प्रदूषण, रेडियोधर्मी प्रदूषण, समुद्री प्रदूषण और तापीय प्रदूषण आदि है|ये विभिन्न तरह के प्रदूषण का प्रकार है ,जोकि आपके शरीर में कई बीमारियों जुखाम , खांसी , इन्फेक्शन और फ्लु को जन्म देते है |लेकिन आपको इस प्रदूषण की मार से डरने की अब जरुरत नहीं है| केवल हमारे द्वारा बताये गये उपायों को कीजिये और हानिकारक प्रदूषण के हर तत्व से अपनी हिफाजत करें…..

 

जहरीले स्मॉग से बचने के लिए यह खाएं:

गुड़- वायु प्रदूषण से बचने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी और फायदेमंद है गुड़. जी हां, अपनी डाइट में गुड़ को शामिल करके आप प्रदूषण या स्मॉग से होने वाली परेशानियों से बच सकते हैं, क्योंकि गुड़ में एंटी एलर्जिक गुण शामिल होते हैं, जिस वजह से ये अस्थमा रोगियों के लिए काफी फायदेमंद होता है. साथ ही गुड़ में आयरन की भरपूर मात्रा पाई जाती है.आयरन खून में हीमोग्लोबिन का लेवल सामान्य करता है. जिस वजह से खून में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ जाता है. यह बात कई स्टडीज में भी साबित हो चुकी है कि हर दिन गुड़ खाने से हवा में फैली प्रदूषण का सेहत पर ज्यादा असर नहीं होता है.इसलिए शायद हमारे बुजुर्ग हमेशा खाने के बाद गुड़ जरूर खाते हैं और साथ ही सबको गुड़ खाने की सलाह भी देते हैं. गुड़ खाने से शरीर को एनर्जी तो मिलती ही है साथ ही यह खांसी-जुकाम जैसी परेशानियों को दूर करता है.

जैतून का तेल- जैतून के तेल में विटामिन ई पाया जाता है, जो  फेफड़ों की समस्या को दूर कर इनके फंकशन को बेहतर बनाता है. जैतून के तेल में पाया जाने वाला फैटी एसिड शरीर की सूजन को कम करता है. इसके आलावा ये प्रदूषण के कारण होने वाली कार्डियोवस्कुलर हार्ट डिजीज समस्या से भी सुरक्षित रखता है |

अलसी- अलसी में भारी मात्रा में फाइटोइस्ट्रोजेन्स और ओमेगा 3 फैटी एसिड पाए जाते हैं. फाइटोइस्ट्रोजेन्स में एंटीऑक्सीडेंट प्रोपर्टीज मौजूद होती हैं, जो अस्थमा और प्रदूषण के कारण होने वाली एलर्जी से सुरक्षित रखती हैं. प्रदूषण से सुरक्षित रखने के लिए अलसी सबसे ज्यादा कारगर साबित होती है. इसलिए प्रदूषण के दुष्प्रभाव से बचना चाहते हैं तो रोजाना अलसी का सेवन जरूर करें|

फली- दिल की समस्या से सुरक्षित रखने के लिए फली बहुत फायदेमंद होती है. इसमें प्रोटीन और फाइबर मौजूद होते हैं, जो सेहत को कई तरह से फायदा पहुंचाते हैं|

हर्बल टी- वजन कम करने से लेकर सेहतमंद रहने तक हर्बल टी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होती है. इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकालने में अहम भूमिका निभाते हैं. इसके साथ ही यह प्रदूषण के कारण होने वाली एलर्जी से भी सुरक्षित रखती है. आप घर पर भी तुलसी, अदरक, और नींबू के रस की मदद से हर्बल टी बना सकते हैं|

टमाटर- प्रदूषण के प्रभाव से बचने के लिए अपनी डाइट में टमाटर जरूर शामिल करें. इसमें लाइकोपीन नामक एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जो प्रदूषण के कारण होने वाली सांस संबंधी समस्या से सुरक्षित रखता है |

पानी- सांसों से शरीर में पहुंचे जहर को बाहर निकालने के लिए पानी बहुत जरूरी है. इसलिए पानी पीना नहीं भूलें. दिन में तकरीबन 4 लीटर तक पानी पीएं. घर से बाहर निकलते वक्त भी पानी पीएं. इससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई सही बनी रहेगी और वातावरण में मौजूद जहरीली गैसें अगर ब्लड तक पहुंच भी जाएंगी तो कम नुकसान पहुंचाएंगी |

 

चाणक्य लाइव न्यूज़

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *