Breaking News
पुलवामा आतंकी हमला : फरीदाबाद में आक्रोशित लोगों ने निकाली रैली, शहीदों को दी श्रद्धांजलि केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे तारेगना-मसौढ़ी के शहीद के परिवार से मिलने के बाद अमर शहीद रतन के परिवार से मिलने कहलगांव-भागलपुर हुए रवाना पुलवामा में शहीद हुए मसौढ़ी के संजय सिन्हा के परिवार से मिले केंद्रीय राज्य मंत्री श्री अश्विनी चौबे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आधी रात को निकल पड़े, पटना के दो थानेदारों पर गिर गई गाज हरियाणा-महाराष्ट्र में माटी और खून का रिश्ता : देवेंद्र फडऩवीस पिता नहीं चाहते थे कि बेटा पढ़ाई करे, महज 21 की उम्र में IAS बन कर रच दिया कीर्तिमान ब्रांड बिहार : कभी बस की छत पर मोतिहारी जाते थे राकेश पांडेय, अब दुनिया को कैंसर से बचा रहे हैं 23 मार्च से भारत में ही होगा आईपीएल प्रधानमंत्री जी जो कहते हैं वह करते हैं: अश्विनी चौबे सरकार की प्राथमिकता सबका साथ सबका विकास कैट का रिजल्ट जारी, टॉप में बिहार से एक छात्र

फरीदाबाद को देश का सबसे प्रदूषित बनाने में अधिकारियों का योगदान, पाराशर ने लिखा पीएम को पत्र

फरीदाबाद: कैंसर, सिर दर्द यहाँ के लोगों के लिए आम बीमारी हो गई है और कई ऐसे परिवार हैं जिन्हे कोई न कोई दवा खाये बिना नींद नहीं आती। लोगों का कहना है कि बस्ती के बीच बनी कुछ अवैध फैक्ट्रियों ने उनका जीना हराम हो गया है। रविवार को स्थानीय लोगों ने बार एसोशिएशन के पूर्व प्रधान एवं न्यायिक सुधार संघर्ष समिति के अध्यक्ष एडवोकेट एल एन पाराशर से गुहार लगा कि वो लोगों की समस्या का समाधा करवाएं। मौके पर पहुंचे वकील पाराशर ने बताया कि बल्लबगढ़ के पास सेक्टर दो के हजारों लोग इन अवैध फैक्ट्रियों से परेशान हैं। उन्होंने बताया कि यहाँ लगभग एक दर्जन अवैध फैक्ट्रियों हैं जो जमकर प्रदूषण फैलाती हैं। वकील पाराशर ने बताया कि कई फैक्ट्रियों के सरेआम प्लास्टिक के सामान जलाये जाते हैं उन्होंने कहा कि इन फैक्ट्रियों का धुंआ पूरे फरीदाबाद को प्रदूषित कर रहा है। उन्होंने बताया कि स्थानीय लोगों ने उन्हें बताया कि सेक्टर दो से सटी रघुवीर कालोनी में ये फैक्ट्रियां चल रहीं हैं जहाँ कई लोगों ने शेड बना किराए पर दे दिया है और मोटा किराया वसूल रहे हैं। वकील पाराशर ने बताया कि बस्ती के बीचोंबीच चल रहे ये छोटे उद्योग वाले प्रदूषण विभाग की मिलीभगत से बड़ा खेल खेल रहे हैं और कई हजार लोगों का इन्होने जीना हराम कर रखा है।
स्थानीय विवासी भरत शर्मा ने बताया कि उनका परिवार हर रोज हेडक की दवाई खाकर सोता है। उन्होंने कहा कि मैंने सीएम ही नहीं फरीदाबाद के जिला अधिकारी, प्रदूषण विभाग के अधिकारी, एसडीएम से कई बार इसकी शिकायत की लेकिन कोई कारवाही नहीं की गई। उन्होंने अधिकारियों पर आरोप लगाया कि शिकायत के बाद जो अधिकारी यहाँ आते हैं वो यहाँ से मंथली वसूली शुरू कर देते हैं।  उन्होंने कहा कि यहाँ के लोग कैंसर जैसी बीमारी से परेशान हैं। सुबह सोकर उठते ही फैक्ट्रियों के धुंए की राख उनके छत पर बिछी दिखती है। उन्होंने बताया कि लोग मंहगे रेट पर यहाँ जमीन लेकर मकान बनाये हैं लेकिन यहाँ रहना दूभर हो गया है।
स्थानीय लोगों की समस्या देख वकील पराशर ने प्रदूषण विभाग के अधिकारीयों पर बड़ी लापरवाही का आरोप लगाया और कहा कि फरीदाबाद को सबसे प्रदूषित शहर बनाने में इन्ही अधिकारियों का योगदान है। उन्होंने कहा इन्ही अधिकारियों की मिलीभगत से यहाँ के हजारों लोगों का जीना हराम हो गया है और लोग बीमार पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदूषण विभाग और शहर के अन्य अधिकारियों के खिलाफ मैं पीएम को पत्र लिख रहा हूँ और इन अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग करूंगा।
चाणक्य लाइव न्यूज़,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *