Breaking News
पुलवामा आतंकी हमला : फरीदाबाद में आक्रोशित लोगों ने निकाली रैली, शहीदों को दी श्रद्धांजलि केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे तारेगना-मसौढ़ी के शहीद के परिवार से मिलने के बाद अमर शहीद रतन के परिवार से मिलने कहलगांव-भागलपुर हुए रवाना पुलवामा में शहीद हुए मसौढ़ी के संजय सिन्हा के परिवार से मिले केंद्रीय राज्य मंत्री श्री अश्विनी चौबे डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय आधी रात को निकल पड़े, पटना के दो थानेदारों पर गिर गई गाज हरियाणा-महाराष्ट्र में माटी और खून का रिश्ता : देवेंद्र फडऩवीस पिता नहीं चाहते थे कि बेटा पढ़ाई करे, महज 21 की उम्र में IAS बन कर रच दिया कीर्तिमान ब्रांड बिहार : कभी बस की छत पर मोतिहारी जाते थे राकेश पांडेय, अब दुनिया को कैंसर से बचा रहे हैं 23 मार्च से भारत में ही होगा आईपीएल प्रधानमंत्री जी जो कहते हैं वह करते हैं: अश्विनी चौबे सरकार की प्राथमिकता सबका साथ सबका विकास कैट का रिजल्ट जारी, टॉप में बिहार से एक छात्र

लालू यादव ने हाईकोर्ट से मांगी जमानत, जेल से जल्‍द निकलेंगे बाहर, बीमारी का दिया हवाला 


चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव ने हाईकोर्ट में जमानत याचिका दाखिल की है। याचिका में लालू प्रसाद की बढ़ती उम्र व बीमारी का हवाला दिया गया है। कहा गया है कि लालू 71 वर्ष के हो गए हैं और उन्हें कई तरह की बीमारियां हैं। इसलिए उन्हें जमानत की सुविधा प्रदान की जाए। लालू प्रसाद यादव दिसंबर 2017 से जेल में हैं। लालू प्रसाद की ओर से देवघर, चाईबासा व दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में जमानत के लिए याचिका दाखिल की गई है।

बता दें कि लालू प्रसाद यादव दिसंबर 2017 से जेल में हैं। हालांकि इस बीच लालू प्रसाद यादव को इलाज के लिए हाई कोर्ट से कई बार औपबंधिक जमानत भी मिल चुकी है। हाई कोर्ट ने 27 अगस्त 2018 को उनकी औपबंधिक जमानत खारिज करते हुए 30 अगस्त को कोर्ट में सरेंडर करने का निर्देश दिया था।

तब हाई कोर्ट की ओर से कहा गया था कि सजायाफ्ता होने के बावजूद वह घर में क्‍या कर रहे हैं। उन्‍हें या तो जेल में होना चाहिए या फिर अस्‍पताल में। लालू प्रसाद यादव की ओर से जमानत याचिका दाखिल करने वाले वकील प्रभात कुमार ने बताया कि दुमका कोषागार, चाईबासा कोषागार और देवघर कोषागार के मामलों में बेल मांगी गई है।

लालू को इन मामलों में नहीं मिली है जमानत :

देवघर ट्रेजरी मामला (आरसी 64 ए/96)- 23 दिसम्बर 2017 को दोषी करार। 6 जनवरी 2018 को लालू समेत 16 आरोपियों को साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *